दुनिया की 10 अजीबोगरीब इमारतें, जिनकी बनावट आपके होश उड़ा देगी!

इमारतें
देश-विदेश में कई ऐसी अजीबोगरीब इमारतें बनी हुई है जो किसी अजूबे से कम नही है। इनकी बनावट को देखकर आपको उसे करीब से देखने की लालसा हो सकती है

देश-विदेश में कई ऐसी अजीबोगरीब इमारतें बनी हुई है जो किसी अजूबे से कम नही है। इनकी बनावट को देखकर आपको उसे करीब से देखने की लालसा पैदा हो सकती है, अगर इनकी फ़ोटो में देखने मात्र ही इतना लुभा सकता है, तो आप अंदाजा लगा ही सकते है कि ये इमारतें पास जाकर देखने पर कितना आनंद मिल सकता है। मैं तो इनके बारे में जानने के लिए उत्सुक हूँ, और आपको इसकी जानकारी देने में भी ।

चलिए देखते हैं ये अजीबोगरीब इमारतें,,,

1. कैपिटल गेट – आबू धाबी(UAE)

सऊदी अरब में कई ऊँची इमारतें है लेकिन जून 2010 में कैपिटल गेट को दुनिया की सबसे पतली मानव निर्मित इमारत का दर्जा दिया गया है। इसका नाम “विश्व के सबसे लम्बी लीनिंग मैन-मेड टॉवर” गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है। इस 35 मंजिला इमारत की ऊंचाई 160 मीटर(520 फ़ीट) हैं। ये इमारतें काफी रोचक है।

2. सनराइज कैम्पिंस्की होटल- बीजिंग, चीन

होटल की श्रंखला में अच्छी इमारतें अहम् किरदार निभाती है जैसे, सन  2015 में होटल के व्यवसाय में एक शानदार शुरुआत हुई । पूर्व मध्य भाग में चीन होटल की श्रंखला में एक उभरता हुआ देश बन रहा है। बीजिंग से 60 किमी दूर, यह होटल झील के करीब आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। होटल का घोंघारूपी आकार सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। होटल का बाहरी हिस्से 10,000 शीशों से संजोया गया है, जो कि 18,075 वर्ग किमी में फैला हुआ है। इसका ऊपरी भाग आसमानी रंग का अनुभव करवाता जबकि मध्य भाग से देखने पर झील में यांशन पर्वत की परछाई बनाता है । मानो ये मानव निर्मित ये इमारतें एक करिश्मा हो।

3. द मरीना बे सेंड्स होटल – सिंगापूर

दुनिया का जाना-माना और सिंगापूर सबसे ऊंचा हिस्सा मरीना बे सैंड्स होटल ही है। यह एक विशालकाय जहाज की भांति दिखाई देता है । इस होटल की खास बात यह है कि इस 57 मंजिला इमारत में मशहूर कु डे टा क्लब, शॉपिंग मॉल, फ़ूड कोर्ट, कैसिनो ओर ग्राउंड फ्लोर से मेट्रो की सुविधा है। इसे इसरायली/कैनेडियन आर्किटेक्ट, मोशे सफेदे ने बनाया था। कई बड़ी इमारतें मोजूद होने के बाद भी इस ईमारत ने अपनी अलग ही छवि बना रखी है ।

4. कमुलुस – नोर्द्बोर्ग,डेनमार्क

यह एक उल्का है? एक कोशिका? एक अणु? इसकी कई संभावनाएं हैं – वास्तव में परियोजना के इरादे को स्वयं “बर्लिन स्थित वास्तुकार जुर्गेन मेयर एच के अपने डिजाइन के अनुसार, क्यूम्यलस बिल्डिंग एक प्रदर्शनी हॉल और इसके डेनमार्क थर्मल इंजीनियरिंग समूह के दक्षिणी डेनमार्क मुख्यालय के निकट एक विज्ञान और प्रौद्योगिकी संग्रहालय डनफोस ब्रह्माण्ड के अतिरिक्त है (अन्य इसके अलावा एक समान-विदेशी कैफेटेरिया है)। 2007 मे इस ईमारत को दुनिया के 7 अजुबों में चुना गया था।

5 . अक्षरधाम – दिल्ली, भारत (इंडिया)

भारत में बहुत सी इमारतें है जो स्वयं में अजूबे है, विश्व के सबसे आश्चर्यजनक पूजा घरों में गिने जाने वाले नई दिल्ली में स्थित अक्षरधाम मंदिर पारंपरिक स्थापत्य शैली के साथ तकनीकी आधुनिकीकरण के मिश्रण को दर्शाता है। यमुना नदी के तट पर 8,000 से अधिक वर्ग मीटर के क्षेत्र को कवर करते हुए, विशाल बलुआ पत्थर-संगमरमर मंदिर किसी भी इस्पात के बिना बनाया गया था। इमारत भारतीय राजधानी में क्षेत्र के पर्यटकों को आकर्षित करती है। 2005 में खोला गया, यह दूसरा स्मारक है जिसे बोकासनवासी श्री अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनाथन संस्थान के आध्यात्मिक प्रमुख स्वामी महाराज द्वारा प्रेरित और विकसित किया गया है, जिनके 3,000 स्वयंसेवकों एवं 7,000 कारीगरों ने अक्षरधाम का निर्माण किया था।

 

Also Read: जानिए कैसे लगे अग्निदेव को दस्त और उससे छुटकारा पाने के लिए उन्होंने क्या किया

6. कला और विज्ञान के शहर – वेलेंसिया, स्पेन

कला और विज्ञान का शहर वेलेंसिया स्पेन में एक मनोरंजन का केंद्र और आधुनिक पर्यटन स्थल बना हुआ है। यह तुरिया की पूर्व नदी के किनारे पर स्थित है, जो 1957 में आई एक विनाशकारी बाढ़ के बाद सूख गयी थी। वेलेंसियन वास्तुकार सेंटिआगो कालाट्रावा द्वारा जुलाई 1996 में डिजाइन बनाया गया, यह आधुनिक वास्तुकला का एक शानदार उदाहरण है।

7. होली क्रॉस का चैपल – एरिज़ोना, यूएसए

सेडोना में लाल पत्थरों के स्तम्भों के बीच शानदार रूप से, होली क्रॉस का चैपल एक कैथोलिक चैपल है जो 1956 में बनाया गया था। चैपल लगभग 250 फीट ऊंची और एक हजार फुट लाल चट्टान की दीवार से बाहर निकल गए थे। इसका निर्माण अपने आप में एक चमत्कार था।

8. इन्फिनिटी टॉवर – दुबई, UAE

इन्फिनिटी टॉवर विश्व की सबसे ऊंची इमारत है जो घुमावदार अनोखी इमारत और लगभग पूर्ण गगनचुंबी इमारतों में से एक है। जमीन से 305 मीटर (1000 फीट) ऊपर यह टॉवर एक शानदार 90˚ का आकार बनाते हुए टिका हुआ है। ये 80 मंजिला टॉवर रहने योग्य बनाया गया है, और इसकी ख़बसूरती इसलिए बढ़ जाती है क्योकि इसके नजदीक ही समुद्र है। आश्चर्यजनक बात यह है कि, भवन के अंदर कहीं भी एक संरचनात्मक स्तंभ नहीं है।

9.सिडनी ओपेरा हाउस – सिडनी, ऑस्ट्रेलिया  

हमारी आधुनिक सूची की सबसे पुरानी इमारतें जिनमें से एक जिसका 1973 में उद्घाटन हुआ, द ओपेरा हाउस – सिडनी, ऑस्ट्रेलिया की सबसे वास्तुशिल्प रूप से पहचानने योग्य है। इस खूबसूरत इमारत की एक वास्तुशिल्प चिह्न के रूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा हुई है। यह सिडनी हार्बर का केंद्र बिन्दु है, और इसके चरित्र का एक प्रतिबिंब है।

10. नागोया विज्ञान संग्रहालय और तारामंडल – आइची, जापान

जापान में कई बड़ी इमारतें है लेकिन नागोया सिटी साइंस म्यूजियम, जापान के मध्य नागोया शहर के केंद्र में सकैए, नागोया में स्थित है। यह भवन आयताकार धारकों के बीच रखा गया एक विशाल गेंद के रूप में बनाया गया था और दुनिया के सबसे बड़े तारामंडल का घर है, जो 35 मीटर प्रक्षेपण गुंबद से लैस है। 2012 में, संग्रहालय के बहुत से तारामंडल के उद्घाटन के साथ मिलान करने के लिए पुनर्निर्मित किया गया था। भवन के ऊपरी मंजिल में वर्तमान में अंतरिक्ष और भविष्य की प्रौद्योगिकियों के एक संग्रहालय का प्रदर्शन होता है।